Hindi Story Horror

Hindi Story Horror | Horror Story Hindi | Horror Hindi Story

Bhoot ki Kahani Hindi Horror Story Hindi Story Kahaniya Latest updates Story List

Hindi Story Horror or Horror Story Hindi – भूत प्रेत की घटना ऐसी घटना है | जिनके बारे में आज तक विज्ञान भी स्पष्ट रूप से कुछ भी नहीं बता पाया है | जिन लोगों पर किसी प्रेत आत्मा का साया होता है , और इसके बाद भी वो इंसान अगर सही सलामत मौत के मुँह से लौट आता है , तो वो उसे अपनी आप बीती मानता है | और जिसके साथ ऐसा कुछ भी घटित नहीं होता वो इंसान इसे एक अफवाह के आलावा और कुछ नहीं मानता | इसलिए हम आपके लिए सच्ची Horror Story Hindi लेकर आये हैं | तो आइये पढ़ते है अब Horror Hindi Story

(नालेबा)- एक सच्ची घटना ( Hindi Story Horror )

आज हम आपको एक सच्ची घटना की कहानी सुनाने जा रहे हैं | आप में से कई लोगों ने स्त्री मूवी तो देखी होगी यह मूवी इसी घटना के ऊपर बनाई गई है | हमारा देश किससे और कहानियों का देश है | जो सुनने में जितनी दिलचस्प लगती है , उतनी ही अविश्वसनीय होती है | हालांकि इन कहानियों को सबूत के तौर पर पूर्ण सहमति नहीं मिलती , कुछ लोग इनका विश्वास करते हैं और कुछ नहीं |

आज की कहानी इसी बारे में है,  जिसे कुछ लोग अफवाह मानते हैं , और कुछ इसे अपनी आपबीती मानते हैं | और आज की कहानी का नाम है (नालेबा) इसका अर्थ आपको कहानी के बीच में बताया जाएगा तो आइए शुरू करते हैं | 1990 के दशक में बैंगलोर में एक घटना घटी थी | बैंगलोर के मलेश्वरम और राजजी नाम के गांव से शुरू हुई यह घटना , आग की तरह पूरे बैंगलोर में फैल गई | जहां एक चुड़ैल आधी रात को लोगों के घर का दरवाजा खटखटा ती थी |

और घर के ही किसी सदस्य के आवाज में उन्हें बुलाती थी | और अगर किसी ने दरवाजा खोल दिया तो उसकी मौत हो जाती थी | शुरू में गांव के लोग इसका विश्वास नहीं करते थे | लेकिन कुछ दिनों में इस चुड़ैल और शिकार हुए लोगों की खबरें आने लगी |और धीरे-धीरे वहां के लोग खाली इसी घटना के बारे में बात करते रहते | लोगों की मौत की खबर आती रही | सारे काफी डर भी चुके थे | और इससे बचने का भी किसी के पास कोई उपाय नहीं था |

bhoot ki kahaniyan

आलम यह हो चुका था की सूर्यास्त के बाद सब अपने-अपने घरों में कैद हो जाते कितना भी जरूरी काम हो कोई घर से बाहर नहीं निकलता था | वहां की सड़कें एकदम खाली हो जाती थी |एक रात जब एक औरत को उसके पति की आवाज में पुकारा गया | तो वह औरत बहुत डर गई क्योंकि उसका पति उसके बगल में ही सो रहा था | घबराहट में वह औरत उठी और खिड़की से बाहर झांककर देखा लेकिन बाहर कोई नहीं था | फिर जैसे ही वह वापस सोने जाने लगी |

Horror Hindi Story or Horror Story Hindi

Hindi Story Horror
                  Horror Hindi Story

उसे फिर से वही आवाज आई | अब वह औरत समझ चुकी थी , कि यह आवाज उसी चुड़ैल के द्वारा आ रही है | जिसकी पूरे गांव में चर्चा थी | उस औरत ने कांपते हुए आवाज में कहा नालेबा |(नालेबा) कन्नड़ भाषा का एक शब्द है | जिसका अर्थ है (कल आना) | यह कहते है ही घर के बाहर से आवाज आना बंद हो गई | लेकिन अगली रात फिर से उस औरत के साथ ऐसा ही हुआ | और (नालेबा) कहते ही फिर से घर के बाहर से आवाज आना बंद हो गई |

और उस चुड़ैल से बचने का यह नुस्खा लोगों में प्रचलित हो गया | और एक समय तो ऐसा भी आया जब बैंगलोर के हर घर के गेट के बाहर लिखा था नालेबा | लेकिन जो उस चुड़ैल का शिकार हो चुके थे उनकी किस्मत उस औरत जितनी अच्छी नहीं थी |ऐसे ही एक शिकार हुए आदमी का नाम था कैलाश , जो 30 साल का था | वह अपने परिवार के साथ मलेश्वरम में रहा करता था | एक रात वह अपने घर में सो रहा था, तो उसे एहसास हुआ कि उसकी मां उसे बाहर से बुला रही है , और दरवाजा खटखटा रही है |

उसने उत्सुकता में आके जल्दी से घर का दरवाजा खोल दिया | लेकिन दरवाजे पर उसकी मां नहीं , बल्कि मौत के रूप में वह चुड़ैल खड़ी थी |दरवाजा खुलते ही चुड़ैल ने एक डरावनी हंसी के साथ कैलाश पर एक वार किया | और एक वार में ही कैलाश की मौत हो गई | कैलाश की तरह ही ऐसे बहुत से लोग थे , जिनकी मौत का कारण उस चुड़ैल को माना गया | लेकिन जिनके घरों के बाहर (नालेबा) लिखा रहता था ,  उनके घरों के बाहर से कोई आवाज नहीं आती थी |

नालेबा चुड़ैल की यह घटना इतना प्रचलित हुआ , कि आज तक बैंगलोर के कुछ जगहों पर , 1 अप्रैल को (नालेबा)  डे  मनाया जाता है | – समाप्त

आशा करता हूँ की आपको ये Horror Story Hindi  ज़रूर पसंद आई आई होगी | इसी तरह की और भी डरावनी Horror Hindi Story पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट पर विज़िट करें |

 

200 प्रेत आत्माओं का घर ( Horror Story Hindi )

बात है जनवरी 2011 की पूजा माथुर नाम की एक महिला अपने तीन बच्चों के साथ एक किराए के घर में रहने आई | शुरुआत से ही यह घर पूजा को कुछ खास पसंद नहीं था | लेकिन परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक ना होने के कारण उन्होंने इसी घर में रहने का फैसला किया | और कुछ दिनों बाद से ही एक के बाद एक डरावनी घटनाओं ने पूजा और उसके परिवार में एक तूफान से खड़ा कर दिया |जनवरी 2011 में पूजा और उसके परिवार का पहली घटना के साथ सामना हुआ |

जब काली बड़ी मक्खियों ने पूजा माथुर के घर पर हमला बोल दिया | उनके घर में एक साथ लाखों काली बड़ी मक्खियां घुस आई |सबसे हैरान करने वाली बात तो यह थी की , जनवरी की कड़कड़ाती ठंड में इन मक्खियों का मिलना लगभग नामुमकिन होता है | क्योंकि यह मक्खियां सर्दियों में किसी गर्म जगह पर चली जाती हैं |ऐसे मौसम में उन मक्खियों का वहां पर होना बहुत अजीब बात थी | पूजा को कई बार बेसमेंट की सीढ़ियों के पास किसी के चलने की आवाज सुनाई देती थी | bhoot ki kahani

इन आवाजों से तंग आकर उन्होंने बेसमेंट के तरफ जाने का रास्ता ब्लॉक कर दिया था | लेकिन फिर भी उन कदमों का आवाज आना बंद नहीं हुआ | 1 दिन पूजा को किसी अनजान आदमी का धुंधला साया नजर आया | लेकिन जब पूजा ने उस साए का पीछा करने की कोशिश की तो वहां पर किसी आदमी के जूते के निशान के अलावा कुछ नहीं मिला |अब पूजा को विश्वास हो गया था कि उनके घर में किसी ना किसी शैतानी आत्मा का साया है |

एक बार तकरीबन 2:00 बजे रात को पूजा को अपनी बेटी के रूम से किसी के चीखने की आवाज आई | जब पूजा अपनी बेटी के रूम में पहुंची | तो वह नजारा देखकर पूजा के होश उड़ गए | पूजा की 12 साल की बेटी बेहोश हालत में हवा में लटकी हुई थी | जिसे देख कर पूजा बुरी तरह से डर गई | कुछ देर बाद बच्ची को होश आए लेकिन उसे कुछ याद नहीं था |पूजा और उसके परिवार ने किसी की मदद लेने का फैसला किया | उन्होंने चर्च में जाकर एक पादरी से अपनी आपबीती सुनाई |

Hindi Story Horror or Horror Hindi Story

Horror Story Hindi
                    Hindi Story Horror

लेकिन पादरी ने उनकी मदद करने से मना कर दिया | क्योंकि वह पादरी उस घर के इतिहास से वाकिफ था | और उस पादरी का डर ही पादरी को पूजा माथुर की मदद करने से रोक रहा था | हालांकि उस पादरी ने उनको बताया कि जिस घर में वह लोग रह रहे हैं वहां एक नहीं दो सौ आत्माओं का साया है |पादरी ने कहा कि उस घर को जल्दी जल्दी खाली कर दो | लेकिन पूजा के घर की स्थिति बहुत ही खराब थी जिसकी वजह से वह घर खाली नहीं कर पाई |

कुछ समय बाद पूजा के बच्चों के शरीर में आत्माएं प्रवेश करने लगी , ऐसा होने पर उन बच्चों की आवाज भारी हो जाती थी | और उनके चेहरे पर एक डरावनी सी हंसी दिखाई देने लगती थी | उन दुष्ट आत्माओं का साया उन बच्चों पर इस तरह से हावी हो चुका था ,कि उनको हॉस्पिटल ले जाना पड़ता था | हॉस्पिटल का स्टाफ और डॉक्टर भी इस घटना को देखकर दंग रह जाते थे | पूजा माथुर का 9 साल का बेटा अचानक अजीब हरकतें करने लगा |

और अचानक उल्टा चलते हुए हॉस्पिटल की दीवार पर चढ़ गया , फिर कमरे की छत पर उल्टा चलने लगा | डॉक्टर के सामने यह सब कुछ हुआ और पूरा अस्पताल सदमे में आ चुका था अपने सामने यह सब देख कर |और इस घटना के बाद से पुलिस हॉस्पिटल और चर्च ने पूजा माथुर और उसके परिवार की मदद करने का फैसला किया | चर्च के पादरी ने पूजा माथुर के घर जाकर उनके बच्चो पर एक्सोरसिस्म क्रिया को किया |

real ghost story in hindi

ऐसा माना जाता है कि इस क्रिया को करने से भूत प्रेत और दुष्ट आत्मा से छुटकारा मिल जाता है | इस क्रिया के पूरा होने के कुछ दिनों बाद पादरी की तबीयत खराब रहने लगी |उस पादरी का मानना था कि उस घर पर किए एक्सोरसिस्म क्रिया के वजह से ही उनका यह हाल हो रहा है | और धीरे-धीरे उन 200 प्रेतात्मा से पूजा माथुर और उसके परिवार को छुटकारा दिलाया गया | लेकिन इस घर से जुड़ी दहशत भरी यादें पूजा माथुर को हमेशा परेशान करती थी |

और फिर सरकार की मदद से पूजा माथुर और उसके परिवार को दूसरे घर में विस्थापित किया गया | उस 200 आत्माओं वाले घर की बात इतनी प्रचलित हो चुकी थी, कि उसके आसपास रहने वाले घर के लोग भी डरे सहमे रहते थे | जिसके कारण सरकार ने उस घर को तोड़ने का फैसला कर लिया | और 6 महीने बाद उस घर को गिरा दिया गया |- समाप्त

आशा करता हूँ की आपको ये Hindi Story Horror  ज़रूर पसंद आई आई होगी | इसी तरह की और भी डरावनी Horror Hindi Story पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट पर विज़िट करें |

एक डरावना अस्पताल ( Horror Hindi Story )

एक बार की बात है | मेरठ में सोनू शर्मा नाम का एक व्यक्ति रहता है | सोनू पेशे से डॉक्टर है | उसे अक्सर अपने काम के सिलसिले में दूसरे शहर और अस्पताल में जाना पड़ता है | सोनू भूत प्रेत की बातों में विश्वास नहीं करता था | लेकिन उसके साथ कुछ ऐसा हुआ जिसके बाद वह इन सब चीजों पर यकीन करने लगा |यह बात है सन 2005 की,   नवंबर का महीना था और बहुत तेज बारिश हो रही थी | तब सोनू राजस्थान के एक हॉस्पिटल में पहुंचा |

सोनू को वहां पर एक ऑपरेशन करने के लिए बुलाया गया था | सोनू वहां सुबह के 1:00 बजे तक पहुंचा | उसके वहां आने के बाद उसे पता चला की ऑपरेशन तो दोपहर के 2:00 बजे होना है | फिर सोनू वहां की कैंटीन में बैठ गया और कॉफी मशीन से कॉफी ले ली |सोनू उस टाइम कैंटीन में अकेला था और कोई भी वहां पर मौजूद नहीं था | कैंटीन में बैठे-बैठे लगभग 3:00 बजे होंगे , तभी उसे अपने पीछे किसी के होने का एहसास हुआ |

For movieflix hub | movie flix hub website.

real ghost story in hindi

उसने पीछे मुड़कर देखा तो वहां कोई नहीं था | फिर कुछ देर बाद ही पीछे से उसके बालों में किस ने फूंक मारी | वह तुरंत अपनी सीट से खड़ा हो गया और इधर-उधर देखने लगा | लेकिन उसे कोई भी नहीं दिखा | यह सोनू का भ्रम था या वहां पर कोई आत्मा मौजूद थी ?वह तुरंत अटेंडेंट के पास गया लेकिन अटेंडेंट ने उसकी बात नहीं मानी , उसने कहा सर हवा चल रही है ,  इसलिए आपको ऐसा लगा होगा | फिर सोनू ने सोचा कि शायद हो सकता है |

वैसे भी हवा आज तेज चल रही है | फिर सोने ने सोचा की थोड़ी देर सो लिया जाए | सोनू के लेटने के कुछ देर बाद उसे किसी के पायल की आवाज सुनाई देने लगी |उसने कमरे की लाइट ऑन की तो उसे कोई नहीं दिखा , और जैसे ही वह लाइट बंद करके वापस सोने गया फिर से पायल की आवाज आने लगी | सोनू डरता हुआ अपने रूम से बाहर गया और बाहर का नजारा देखकर उसके होश उड़ गए | क्योंकि वह पूरा का पूरा हस्पताल एक खंडहर में तब्दील हो चुका था |

Horror Story Hindi or Hindi Story Horror

Horror Hindi Story
                Horror Story Hindi

वो डर के मारे वहां से बाहर निकलने का रास्ता ढूंढने लगा | तभी उसको तुरंत कुछ लोगों की आवाज सुनाई दी | फिर उसकी जान में जान आई कि वह अकेला नहीं है | वह आवाज का पीछा करते हुए पहले फ्लोर पर गया और उसने पाया की फ्लोर के तीसरे कमरे से बहुत सारे लोगों की आवाज आ रही है | रूम में 30 से 35 लोग आपस में बात कर रहे थे | और जैसे ही सोनू उस कमरे में घुसा तो वह सारे एकदम से चुप हो गए और सारे सोनू की तरफ देखने लगे |

इससे पहले कि सोनू  कुछ समझता वह पूरा कमरा शैतानी हंसी से गूंजने लगा | सोनू बहुत डर गया, इससे पहले कि सोनू वहां से भाग पाता रूम का दरवाजा तुरंत बंद हो गया | सोनू डर के मारे चिल्लाने लगा और दरवाजे को पीटने लगा | और जैसे ही पीछे मुड़कर देखा वह सारे लोग सोनू के काफी पास खड़े थे | तभी अचानक दरवाजा खुला और सोनू गिरता पड़ता रूम से बाहर निकला तो उसने पाया कि किसी बूढ़े आदमी ने गेट खोला है | सोनू उस बूढ़े आदमी के पैर पड़ कर बोलने लगा कि मुझे बचाओ नहीं तो मैं मर जाऊंगा |

तो आदमी बोला बेटा इधर तो कोई नहीं है | और सोनू ने उस कमरे में देखा तो वहां कोई नहीं था | और फिर उसने अपने चारों तरफ देखा है तो वह खंडहर वापस अस्पताल में तब्दील हो गया था | फिर सोनू ने सारी कहानी उस बूढ़े आदमी को बताई | फिर उस बूढ़े आदमी ने बताया कि जो आवाज आपको सुनाई दे रही है | वह सब सही है ,यहां पर अस्पताल बनने से पहले एक श्मशान घाट हुआ करता था | शमशान घाट को तोड़कर ही अस्पताल बनाया गया है |

इसलिए बहुत सारे लोगों को यह आवाज सुनाई देती है | फिर सोनू वहां से अपने घर की तरफ चला गया और कभी भी उस अस्पताल में लौटकर नहीं आया |

आशा करता हूँ की आपको ये Horror Story Hindi or Horror story in hindi ज़रूर पसंद आई आई होगी | इसी तरह की और भी डरावनी Horror Hindi Story पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट पर विज़िट करें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *